लॉगिन

किआ सॉनेट डीज़ल वैरिएंट रखरखाव के मामले में सेग्मेंट में सबसे सस्ता: रिपोर्ट

फ्रॉस्ट और सुलिवन द्वारा किए गए विश्लेषण से पता चला कि सॉनेट डीजल ने स्वामित्व की सबसे कम कुल लागत की पेशकश की, जबकि पेट्रोल सेगमेंट में दूसरे स्थान पर सबसे अच्छी थी.
Calendar-icon

द्वारा ऋषभ परमार

clock-icon

1 मिनट पढ़े

Calendar-icon

प्रकाशित दिसंबर 12, 2023

हमें फॉलो करें

google-news-iconWhatsapp-icon
Story

हाइलाइट्स

    हाल ही में एक घोषणा में किआ इंडिया ने खुलासा किया कि फ्रॉस्ट और सुलिवन द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि सॉनेट डीजल अपने सेगमेंट में सबसे कम लागत के साथ आने वाली कार है. इस बीच सॉनेट पेट्रोल ने सेगमेंट में दूसरा सबसे कम टीसीओ पेश किया. अध्ययन के अनुसार, 5 वर्षों के अंत में सॉनेट पेट्रोल और डीजल बचत के मामले में सेग्मेंट की बाकी कारों से बेहतर औसत निकाल कर देती है, जबकि दोनों की इंश्योरेंस और रखरखाव लागत की भी सबसे कम है.

     

    यह भी पढ़ें: किआ ईवी6 फेसलिफ्ट टैस्टिंग के दौरान आई नज़र

     

    रिपोर्ट से पता चला कि सॉनेट डीजल ने पांच वर्षों में इंश्योरेंस और फाइनेंस लागत, रखरखाव लागत और फ्यूल लागत सेग्मेंट में सबसे बेहतर दी. रखरखाव लागत के मामले में पेट्रोल डीजल से मेल खाता है, हालांकि यह अन्य सेग्मेंट में दो प्रतिद्वंद्वियों से नीचे है. रिपोर्ट में अधिग्रहण लागत, परिचालन लागत और बचत सहित टीसीओ की गणना के लिए कई चीज़ों पर विचार किया.

    यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि अध्ययन में कई मापदंडों का पालन किया गया जिसमें वाहन का जीवन काल 5 वर्ष था और इसे प्रति वर्ष केवल 10,000 किमी चलाया गया था. इसके अलावा, वाहन के एआरएआई-रेटेड ईंधन दक्षता आंकड़ों का उपयोग 5 वर्षों में ईंधन लागत की गणना में किया गया था, जबकि यह माना गया था कि खरीदारों ने फाइनेंस और EMI के माध्यम से वाहन की (एक्स-शोरूम) कीमत का 80 प्रतिशत भुगतान किया है. इसके अतिरिक्त, केवल अनुसूचित रखरखाव पार्ट्स को चालू लागत में शामिल किया गया था (दुर्घटना की मरम्मत पर विचार नहीं किया गया था). बचत मूल्य प्रयुक्त कार डीलरों और ऑनलाइन पोर्टलों के इनपुट पर आधारित थे.

     

    यह भी पढ़ें: 2024 किआ सॉनेट फेसलिफ्ट का ब्रोशर हुआ लीक, वैरिएंट और फीचर्स की जानकारी आई सामने

     

    अध्ययन में अन्य महत्वपूर्ण मापदंडों में केवल नई दिल्ली तक भौगोलिक सीमा और इसमें शामिल वाहनों के लिए केवल व्यापक बीमा पर विचार शामिल था.

    अध्ययन में पाया गया कि सॉनेट ने 16 प्रतिशत तक कम रखरखाव लागत के साथ-साथ सेग्मेंट के औसत से 3 प्रतिशत अधिक बचत की पेशकश की. डीजल ने सेगमेंट की औसत की तुलना में 8 प्रतिशत कम अधिग्रहण लागत और 6 प्रतिशत कम ईंधन लागत की पेशकश की. कुल मिलाकर अध्ययन में पाया गया कि सॉनेट डीजल सेगमेंट के औसत से 10 प्रतिशत कम टीसीओ के साथ पैसे के लिए सबसे अधिक मूल्यवान है, जबकि सॉनेट पेट्रोल सेगमेंट में दूसरी सबसे अच्छी (औसत से 4 प्रतिशत नीचे) थी.

     

    अध्ययन में सॉनेट पेट्रोल की तुलना पांच प्रतिद्वंद्वियों से की गई जबकि डीजल की तुलना तीन प्रतिद्वंद्वियों से की गई.

     

    वर्तमान प्री-फेसलिफ्ट मॉडल के लिए लागू होने पर, किआ इंडिया के वीपी और मार्केटिंग और सेल्स प्रमुख हरदीप सिंह बराड़ ने कहा कि टीसीओ में आने वाली सॉनेट फेसलिफ्ट के लिए कोई बड़ा बदलाव होने की संभावना नहीं है. एक मीडिया राउंड टेबल में बोलते हुए बरार ने कहा कि आगामी फेसलिफ्ट के साथ अधिग्रहण लागत बढ़ जाएगी, लेकिन अपडेटेड सबकॉम्पैक्ट एसयूवी में बचत मूल्य में भी वृद्धि देखी जाएगी, जिससे कोई भी बदलाव नहीं रहेगा.

     

    हालांकि उन्होंने कहा कि किआ सॉनेट फेसलिफ्ट के लॉन्च के बाद 2024 में अध्ययन पर दोबारा गौर कर सकती है.

    Stay updated with automotive news and reviews right at your fingertips through carandbike.com's WhatsApp Channel.

    पुरानी कारों पर शानदार डील

    सभी यूज़्ड कार देखें

    अपकमिंग कार्स

    अपकमिंग बाइक्स

    और ज्यादा खोजें